Sunday, February 5, 2023
Homeछत्तीसगढ़राजभवन में हुआ साहसी बच्चों का सम्मान, छत्तीसगढ़ सिविल सोसायटी का आयोजन

राजभवन में हुआ साहसी बच्चों का सम्मान, छत्तीसगढ़ सिविल सोसायटी का आयोजन

रायपुर, 26 दिसम्बर 2022/ राज्यपाल अनुसुईया उइके ने आज राजभवन में वीर बाल दिवस के अवसर पर प्रदेश के साहसी वीर बच्चों को सम्मानित किया। उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ सिविल सोसायटी के तत्वाधान में वीर बाल दिवस कार्यक्रम का आयोजन राजभवन में किया गया था। इस अवसर पर छत्तीसगढ़ सिविल सोसायटी के संयोजक डॅा. कुलदीप सोलंकी ने छत्तीसगढ़ सिविल सोसायटी का परिचय,उपलब्धियो की जानकारी दी.26 दिसंबर को वीर बाल दिवस के रूप में घोषित करने के प्रयासों के विषय में सोसायटी के संयोजक डॅा. कुलदीप सोलंकी ने बताया कि उनके अनेक प्रयासों से 9 जनवरी 2022 को भारत सरकार ने राजपत्र में प्रकाशित हुआ एवं सम्पूर्ण देश मे 26 दिसंबर वीर बाल दिवस के रूप में मनाया जायेगा।
राज्यपाल ने अपने संक्षिप्त उद्बोधन में गुरू गोविन्द सिंह तथा उनके बलिदानी साहिबजादों को नमन किया। छत्तीसगढ़ सिविल सोसायटी द्वारा चयनित वीर बच्चों का सम्मान करते हुए उन्होंने कहा कि प्रदेश के सभी बच्चे इनसे प्रेरणा लेंगे. राज्यपाल ने बहादुर बच्चों के साहस और सूझबूझ की प्रशंसा की. राज्यपाल सुश्री उइके ने इस अवसर पर छत्तीसगढ़ सिविल सोसायटी के प्रयासों की सराहना की जिनके द्वारा पत्राचार व अन्य माध्यमों से प्रधानमंत्री को 26 दिसंबर को वीर बाल दिवस के रूप में घोषित करने हेतु आग्रह किया तथा प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने सिक्ख समुदाय के गौरवमयी इतिहास से भावी पीढ़ी को अवगत कराने के उद्देश्य से वीर बाल दिवस मनाने की सराहनीय पहल की है।

इस अवसर पर सोसायटी के संरक्षक डॅा. पु्र्णेंदु सक्सेना व अल्पसंख्यक आयोग के पूर्व अध्यक्ष श्री सुरेन्द्र सिहं केम्बो  ने  भी सम्बोधित किया।  

Most Popular

- Advertisment -spot_img