Saturday, December 10, 2022
Homeप्रमुख खबरेंसेदहा पंचायत प्रभारी सचिव दिलीप गुप्ता का सचिवीय और वित्तीय प्रभार छिना...

सेदहा पंचायत प्रभारी सचिव दिलीप गुप्ता का सचिवीय और वित्तीय प्रभार छिना // पंचायती निर्माण कार्यों में अनियमितता और भ्रष्टाचार में संलिप्त होने पर जिला पंचायत सीईओ स्वप्निल वानखेड़े ने की कार्यवाही // 3 सदस्यीय जांच दल को जांच से संबंधित अभिलेख उपलब्ध न करवाने पर की जा रही कार्यवाही

दिनांक 20 सितंबर 2022 रीवा मध्य प्रदेश

ग्राम पंचायत में भ्रष्टाचार के चलते जनपद पंचायत गंगेव की सेदहा पंचायत के ग्राम रोजगार सहायक दिलीप कुमार गुप्ता को पिछले 5 वर्ष से अधिक समय से दिया गया वित्तीय प्रभार छीन लिया गया है। जिला पंचायत सीईओ स्वप्निल वानखेड़े ने 20 सितंबर को अपने एक आदेश में ग्रामीण यांत्रिकी सेवा संभाग रीवा के कार्यपालन यंत्री आर एस धुर्वे सहित तीन सदस्यीय जांच दल को जांच में सहयोग न करने, अभिलेख उपलब्ध न करवाने, अनुशासनहीनता करने आदि कारणों के कारण ग्राम पंचायत सेदहा के सरपंच एवं ग्रामीण यांत्रिकी सेवा के अधिकारियों के द्वारा भेजे गए प्रस्ताव के आधार पर ग्राम रोजगार सहायक दिलीप कुमार गुप्ता को वित्तीय प्रभार खत्म करते हुए सचिव के पद से मुक्त कर दिया है।

सेदहा ग्राम पंचायत में अनियमितता और भ्रष्टाचार के लगे हैं संगीन आरोप

पिछले कार्यकाल में ग्राम पंचायत से सेदहा जनपद पंचायत गंगेव में व्यापक स्तर का भ्रष्टाचार और अनियमितता देखे गए जिसके बाद कई शिकायतें हुई हैं। इस बाबत मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत रीवा, जिला कलेक्टर एवं संभागीय आयुक्त के समक्ष कई शिकायतें प्रस्तुत की गई हैं। जिसके बाद कई जांच टीमें जांच कर रही हैं जिस पर जांच के दौरान अभिलेख उपलब्ध करवाए जाने के लिए कई मर्तबा पंचायत से लेकर जिला तक के अधिकारियों के द्वारा लेख किया जा चुका है लेकिन अपने भ्रष्टाचार को दबाने के उद्देश्य से ग्राम रोजगार सहायक एवं प्रभारी सचिव दिलीप कुमार गुप्ता के द्वारा जांच दल को अभिलेख उपलब्ध नहीं करवाए गए और अब कार्यवाही की गई है। वहीं लोगों का मानना है कि जिस प्रकार से व्यापक स्तर का भ्रष्टाचार हुआ और अभिलेख जांच टीम को उपलब्ध नहीं करवाए जा रहे ऐसे में वित्तीय प्रभार छीनना पर्याप्त नहीं है। ग्राम पंचायत के लोगों ने मांग की है कि दिलीप कुमार गुप्ता को बर्खास्त किया जाए और रोजगार सहायक की संविदा समाप्त करते हुए इन्हें पूर्णतया टर्मिनेट किया जाए।

स्पेशल ब्यूरो रिपोर्ट रीवा मप्र

- Advertisment -spot_img
spot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img
spot_img
spot_img