Saturday, November 26, 2022
Homeछत्तीसगढ़नशा मामले में उड़ता छत्तीसगढ़ बन गया है राज्य..ब्यूरोक्रेसी के सेक्सुअल हैरेसमेंट...

नशा मामले में उड़ता छत्तीसगढ़ बन गया है राज्य..ब्यूरोक्रेसी के सेक्सुअल हैरेसमेंट केस पर हो सकती है एफआईआर- रेखा शर्मा, अध्यक्ष-राष्ट्रीय महिला आयोग

रायपुर,14 सितम्बर।छत्तीसगढ़ में जहाँ एक तरफ महिलों से जुड़े अपराधों को लेकर विपक्ष सरकार पर निशाना साढ़े हुए है। तो वही दूसरी तरफ अब महिला आयोग की राष्ट्रीय अध्यक्ष रेखा शर्मा(National President of Women’s Commission Rekha Sharma) के बयानों से मामला और तूल पकड़ने लगा है। राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने छत्तीसगढ़ पुलिस पर महिला उत्पीड़न के मामलों में जबरदस्ती समझौता कराने का आरोप लगाया है। रेखा शर्मा ने छत्तीसगढ़ सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि यहां की सरकार शराब की ऑनलाइन डिलीवरी(government liquor online delivery) करा रही है।

उड़ता छत्तीसगढ़ – रेखा शर्मा
रेखा शर्मा ने छत्तीसगढ़ सरकार और छत्तीसगढ़ पुलिस पर निशाना साधते हुए कहा है की यहाँ नशे के कारण महिलाओं से जुड़े अपराध तेजी से बढ़ रहे है। सरकार शराब की ऑनलाइन डिलीवरी से नशाखोरी की प्रवृत्ति बढ़ी हैं। कहा की छत्तीसगढ़ में कई केस पेंडिंग थे जिसका जवाब पुलिस नही दे रही थी, इसलिए मुझे यहां आना पड़ा, DGP से बातचीत में पता चला कि छत्तीसगढ़ राज्य में सब कुछ ठीक हैं, यहां पुलिस की जरूरत है ही नहीं, महिला आयोग में काफी सीरियस मैटर में केस आता है, पुलिस की भूमिका होती है कि उसको आप ठंडे बस्ते में डाल दे और इसका जवाब ना दे इसलिए मुझे यहां आना पड़ा।

राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने आज आरोप लगाया कि छत्तीसगढ़ में नशा इतना ज्यादा फैल गया है कि अभी से उड़ता छत्तीसगढ़ कहा जाने लगा है।

उन्होंने नशे की तुलना में छत्तीसगढ़ को पंजाब और हरियाणा के राज्य के समकक्ष बताया। श्रीमती शर्मा ने आज वीआईपी रोड स्थित होटल में पत्रकार वार्ता को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि यहां की पुलिस का दावा है कि महिला अपराध घटे हैं जबकि हमारे साथ एनजीओ ने मुलाकात में बताया कि छत्तीसगढ़ में महिला अपराधों को लेकर पुलिस कंप्रोमाइज करवा देती है अपराध दर्ज नही हो पा रहे। इसलिए आंकड़े नहीं मिल पा रहे।

श्रीमती शर्मा ने कहा कि छत्तीसगढ़ में यौन अपराध बढ़ रहे हैं और महिलाओं के मिसकैरेज के मामले भी बढ़े हैं। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में युवक नशे की गिरफ्त में है और यह उड़ता छत्तीसगढ़ होता जा रहा है। श्रीमती शर्मा ने आगे कहा कि छत्तीसगढ़ में ब्यूरोक्रेसी और राजनेताओं पर भी सेक्सुअल हरासमेंट के आरोप लगे हैं खासकर ब्यूरोक्रेसी के कुछ मामले हमारे पास पेंडिंग है। कुछ पर एफआईआर करने वाले हैं। हालांकि उन्होंने यह नहीं बताया कि छत्तीसगढ़ में अफसरों पर सेक्सुअल हरासमेंट के जो आरोप लगे हैं उसकी जांच कहां तक पहुंची है।

उन्होंने इतना जरूर कहा कि देश में राजनेताओं और अफसरों पर ब्यूरोक्रेसी पर हरासमेंट के आरोप बढ़ रहे है। उन्होंने यह भी कहा कि हम छत्तीसगढ़ के ग्रामीण इलाकों में लीगल अवेयरनेस कैंपेन चलाने की शुरुआत करने वाले हैं। श्रीमती शर्मा ने राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष किरणमई नायक के कामकाज की तारीफ की और उन्होंने कहा कि महिला आयोग काफी सक्रिय है और अच्छा काम कर रहा है।

इस अवसर पर भाजपा मीडिया प्रभारी अमित चिमनानी, सह मीडिया प्रभारी अनुराग अग्रवाल, भाजपा नेत्री हर्षिता पांडे, भाजपा नेता तौकीर रजा उपस्थित थे।

- Advertisment -spot_img
spot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img
spot_img
spot_img