Saturday, February 4, 2023
Homeछत्तीसगढ़व्हाट्सप्प से व्यापार में किसी प्रकार के दुकान की आवश्यकता नहीं होगीं...

व्हाट्सप्प से व्यापार में किसी प्रकार के दुकान की आवश्यकता नहीं होगीं – अमर पारवानी


कैट सी.जी. चैप्टर का व्हाट्सप्प से व्यापार पर कार्यशाला में बड़ी संख्या में व्यापारियों ने हिस्सा लिया


रायपुर।कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के राष्ट्रीय वरिष्ठ उपाध्यक्ष अमर पारवानी, चेयरमेन मगेलाल मालू, अमर गिदवानी, प्रदेश अध्यक्ष जितेन्द्र दोशी, कार्यकारी अध्यक्ष विक्रम सिंहदेव, परमानन्द जैन, वाशु माखीजा, महामंत्री सुरिन्द्रर सिंह, कार्यकारी महामंत्री भरत जैन, कोषाध्यक्ष अजय अग्रवाल एवं मीड़िया प्रभारी संजय चौंबे ने बताया कि कैट का व्हाट्सप्प से व्यापार एवं व्यापार में मातृशक्तियों की भागीदार पर कार्यशाला हुई चैम्बर भवन में सम्पन्न हुई। उपरोक्त कार्यशाला में मुख्य अतिथि कैट के राष्ट्रीय महासचिव श्री प्रवीण खण्डेलवाल जी, विशेष अतिथि राष्ट्रीय महिला कोऑर्डिनेटर श्रीमती पूर्णिमा शिरीषकर जी एवं प्रदेश अध्यक्ष कैट महाराष्ट्र श्री सचिन दिनकर निवंगुणे जी कैट के राष्ट्रीय वरिष्ठ उपाध्यक्ष अमर पारवानी, सहित व्हाट्सअप की प्रमुख तकनीकी टीम से सुश्री प्रियंका जैन जी (लीड-पेमेंट एण्ड़ फिनांशियल इंकलुशन, व्हाट्सअप पॉलिसी) एवं सुश्री नेहा बजाज जी (पब्लिक पॉलिसी मैनेजर, व्हाट्सअप पॉलिसी) उपस्थित रहे। कार्यशाला में अधिक से अधिक व्यापारियों ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई ।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि कैट के राष्ट्रीय महासचिव श्री प्रवीण खण्डेलवाल ने कहा कि वर्तमान समय तकनीकी एवं डिजीटल व्यापार का समय है। जिससे कि हम अपने मोबाईल व्हाट्सप्प व्यापार से कर सकते है। जिसके कि लिए किसी दुकान की आवश्यकता नहीं होती है। आज बडी-बडी कम्पनीयॉ जैसे कि अमेजान, फिल्पकार्ट एवं जैमोटो जैसी कम्पनीयॉ मोबाईल के माध्यम से अपना व्यापार करती है। ये कम्पनीयां किसी भी वस्तुओं का उत्पादन नहीं करती है। फिर भी करोड़ों रूपये का व्यापार करती है। हमे भी इस तकनीक का इस्तेमाल कर व्यापार करना चाहिए।

व्हाट्सअप की प्रमुख तकनीकी टीम से सुश्री प्रियंका जैन एवं सुश्री नेहा बजाज ने बताया कि व्हाट्सप्प में बिजनेस प्रोफाईल बनाते है उसमें अपने कैटलॉग बनाते है जिसमें अपने प्रोडक्ट की फोटो एवं उसकी मूल्य दर्शा सकते है। जिससे अपने लिंक के माध्यम से अपने ग्राहक को भेज सकते है। साथ क्यू आर कोड के माध्यम से प्रोडक्ट की सूची भेज सकते है। इसमें पेमेन्ट मोड का भी आप्शन रहता है। इस आप्शन के माध्यम से किसका पेमेन्ट हो गया किसका बाकी है। यह भी दर्शाता है। व्हाट्सप्प से संस्थान के उत्पाद को उत्कृष्ठ रूप से प्रदर्शित कर सकते तथा अपने कार्य का समय भी दर्शा सकते है। उन्होने आगे कहा कि तकनीकी टीम द्वारा व्यापारियों के समस्याओं का तत्काल निराकरण किया गया ।

विशेष अतिथि राष्ट्रीय महिला कोऑर्डिनेटर श्रीमती पूर्णिमा शिरीषकर ने कहा कि आज व्यापार में महिला उधमियों का विशेष योगदान है। उन्होनें कहा कि आज देश के लगभग साढे सात लाख महिला उधमी उनसे जुडे हुए जो ट्रेड फेयर के माध्यम से देश- विदेश में अपने उत्पाद का विक्रय करते है। हर घर से एक महिला उधमी होने चाहिए । महिलाओ का व्यापार करने से परिवार की आर्थिक स्थिति मजबूत रहती है। महिलाओ का उधम सशक्तीकरण किया जाना चाहिए। जिससे की वह आत्मनिर्भर हो सके ।

कैट के राष्ट्रीय वरिष्ठ उपाध्यक्ष श्री अमर पारवानी ने कहा ई- कामर्स पोर्टल पर कैट द्वारा 30 अक्टूबर 2020 को श्भारत ई -मार्ट पोर्टल श् शुरूआत की गई थी। जिसमे देश के सभी छोटे बड़े व्यापारी अपनी दुकान खोल सकते है। जो कि पूर्णतः निःशुल्क है इसमे व्यापारियों को किसी भी प्रकार का कमीशन नहीं देना होगा। भारत ई-मार्ट पोर्टल भारत के व्यापारियों का ,व्यापारियों के द्वारा तथा व्यापारियों और उपभोक्ताओं के लिए, वाले मूल सिद्धांत पर आधारित है। भारत ई-मार्ट पोर्टल में निर्माता से लेकर आखिरी उपभोक्ता तक की वर्तमान व्यवसाय पद्धति जो अभी ऑफलाइन में चल रही है, का उसी प्रकार से एलेक्ट्रॉनिकीकरण किया गया है। इससे जहाँ एक तरफ ऑनलाइन पर वर्तमान सप्लाई चेन को बल मिलेगा तो वही दूसरी ओर देश भर के व्यापारियों की निजी दुकानों के व्यापार में बड़ी वृद्धि होगी। इस पोर्टल के जरिये अब भारत के व्यापारियों की दुकाने 24 घंटे खुली रहेंगी। व्हाट्सप्प से व्यापार कार्यशाला का प्रदेश के युवा उधमी एवं व्यापारियो ने लाभ उठाया। व्हाट्सप्प से व्यापार में किसी प्रकार की दुकान की आवश्यकता नहीं होती है।

कैट सी.जी. चैप्टर के प्रदेश कार्यकारी महामंत्री श्री भरत जैन ने कार्यशाला में उपस्थित सभी पदाधिकारियों एवं व्यापारियों आभार व्यक्त करते हुए धन्यवाद ज्ञापित किया।

कार्यक्रम में कैट के पदाधिकारी एवं व्यापारीगण मुख्यरूप से उपस्थित – अमर पारवानी, मगेलाल मालू, अमर गिदवानी, विक्रम सिंहदेव, परमानन्द जैन, वासु माखीजा, सुरिन्दर सिंह, भरत जैन, उत्तम गोलछा, राजेन्द्र जग्गी, मनमोहन अग्रवाल, राम मंधान, कैलाश खेमानी, राकेश ओचवानी, जय नानवानी, महेश जेठानी, महेश खिलोसिया, दिलीप इसरानी, नरेश पाटनी, जयराम कुकरेजा, आशीष सोनी, जितेन्द्र गोलछा, राजेश माखीजा, जनक वाधवानी, राकेश अग्रवाल, रजत छाबड़ा, विनोद तिवारी, नीरज गुप्ता, भगवान दास अग्रवाल, विजय जैन, सतीश श्रीवास्तव, युवा टीम प्रदेश अध्यक्ष अवनीत सिंह, अमर धिंगानी, विजय पटेल, दीपक विधानी, विक्रांत राठौर, रमेश कुमार खोडियार, परविदंर सिंह, सोपान अग्रवाल, पार्थ केवलानी, सुशांत सिन्हा, सोपान अग्रवाल, संदीप सोनी, रजत अग्रवाल, हरसुख पटेल, नितिन राठी, अभिजीत पाण्डेय, भूपेन्द्रर सिंह खालसा, मोहित आठवानी, चयन जैन, अमितोज सिंह छाबड़ा, अविनाश माखीजा, धीरज पटेल, राकेश लालवानी, टीकम मोटवानी, दीपेश ओसवाल, सुरेश वासवानी, (जिला ईकाई से) दुर्ग ईकाई से मोहम्मद अली हिरानी, कांकेर से हाजी वली भाई, राजेन्द्र खटवानी भाटापारा से तोरण साहू, अभनपुर से संतोष अग्रवाल एवं (रायपुर के व्यापारी संघ के पदाधिकारी) – परमानन्द जैन, श्याम माहेश्वरी, जीवत बजाज, सरल मोदी, दिनेश साहू, गोविन्द राम चिमनानी, तेजकुमार बजाज, अमृत लाल पटेल, दर्शन निहाल, अशोक छाबड़ा, डॉ. मनीष गुप्ता, एवं अन्य व्यापारीगण आदि।

Most Popular

- Advertisment -spot_img