प्रमुख खबरेंराष्ट्रीय

किसान आंदोलन : हिसार में किसानों और पुलिस के बीच टकराव,26 फरवरी को ट्रेक्टर मार्च

नई दिल्ली : देश भर के किसान फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) पर कानूनी गारंटी और कृषि कर्ज माफी समेत अपनी मांगों को लेकर केंद्र सरकार पर दबाव बनाने के लिए प्रदर्शन कर रहे हैं। संयुक्त किसान मोर्चा (गैर-राजनीतिक) और किसान मजदूर मोर्चा ‘दिल्ली चलो’ मार्च का नेतृत्व कर रहे हैं। वहीं, अब किसानों के प्रदर्शन में संयुक्त किसान मोर्चा ने भी कड़ा रुख अपना लिया है। MSP पर गारंटी कानून की मांग कर रहे किसानों के चल रहे विरोध प्रदर्शन के बीच किसान नेता राकेश टिकैत ने गुरुवार को घोषणा की है कि 23 मार्च को आक्रोश दिवस मनाया जाएगा। इसके साथ ही शुक्रवार को दिल्ली मार्च पर फैसला लिया जाएगा। इसके अलावा 26 फरवरी को देश के राजमार्गों पर संयुक्त किसान मोर्चा की तरफ से ट्रैक्टर मार्च आयोजित करेगा। वहीं, 14 मार्च को दिल्ली के रामलीला मैदान में महापंचायत बुलाई गई है। देश भर के किसान नेताओं से बात के बाद टिकैत ने कहा कि लोगों को सभी हाईवे के एक तरफ के उपयोग की अनुमति दी जाएगी।

पुलिस और किसानों के बीच टकराव:

हरियाणा के हिसार में पुलिस और किसानों के बीच टकराव हो गया। किसान खनौरी बॉर्डर पर पंजाब के किसानों के पास जाना चाहते थे लेकिन पुलिस ने रोक लिया। जिसके बाद लाठीचार्ज किया और आंसू गैस के गोले छोड़े। यह देख किसानों ने पथराव कर दिया। जिसमें थाना नारनौंद के एसएचओ चंद्रभान घायल हो गए।
वहीं किसान संघो का कहना है कि 26 फरवरी को पूरे देश में ‘ट्रैक्टर प्रदर्शन’ किया जाएगा। इसमें हम सरकार से डब्ल्यूटीओ छोड़ने के लिए कहेंगे। टिकैत ने कहा कि 14 मार्च को दिल्ली के रामलीला मैदान में अखिल भारतीय किसान मजदूर महापंचायत का आयोजन किया जाएगा। टिकैत ने कहा कि इस महापंचायत में हमें एक लाख से अधिक लोगों के शामिल होने की उम्मीद है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button