Sunday, February 5, 2023
Homeछत्तीसगढ़छत्तीसगढ़ मुक्ति मोर्चा मजदूर कार्यकर्ता समिति द्वारा मजदूरों के ज्वलंत...

छत्तीसगढ़ मुक्ति मोर्चा मजदूर कार्यकर्ता समिति द्वारा मजदूरों के ज्वलंत मुद्दों पर ‘गुहार यात्रा’ निकाली गयी

दुर्ग। आज छत्तीसगढ़ मुक्ति मोर्चा मजदूर कार्यक्रता समिति द्वारा मजदूर गुहार यात्रा निकाला गया जिसमे मुख्य रूप से मजदूरों के ज्वलंत मुद्दों को उठाया गया चंदूलाल चंद्राकर मेमोरियल मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल से निकाले गए स्वास्थ्य कर्मियों को काम पर वापस लेने जे पी सीमेंट से निकाले गए मजदूरों को काम पर बहाल करे नगरीय निकायों के प्लेस मेंट सफाई कर्मियों को नियमित करे मानदेय वाले स्वच्छता दीदियों को पी एफ ई एस आई के दायरे में लाया जाए भिलाई निगम के सफाई कर्मियो के वेतन 3 माह से अपराप्त है उसे तत्काल भुगतान किया जाए ए सी सी सीमेंट कंपनी को जब से अदानी खरीदा है तब से मजदूरों के ऊपर तानाशाही रवैया बढ़ गया है उस पर रोक लगाई जाए छटनी पर रोक लगाई जाए औद्योगिक मजदूरों का 25000 न्यूनतम वेतन किया जाए।
वही बस्तर में ईसाइयों कल हो रहे जानलेवा ही को रोक लगाने की मांग के लिए मां राज्यपाल महोदया के ना बीम अलग से ज्ञापन दिया गया
स्वास्थ्य कर्मचारियों के धरना पंडाल का लाइट और पानी बिजली काट दिया गया उसे तुरंत चालू करने का मांग किया गया।


दोपहर 3 बजे पावर हाउस चौक में राज्य पाल के सामने जम कर नारा लगाया गया राज्यपाल बात करो मुख्यमंत्री बात का नारा गूंजता रहा उसके बाद पद यात्रा रायपुर जाने के लिए प्रस्थान हुआ यात्रा में पूर्व विधायक जनक लाल ठाकुर जिला किसान संघ राजनदगाव से सुदेश टेकाम रमाकांत बंजारे रेड स्टार माले टी यू सी आई से भारत भूषण पांडे छत्तीसगढ़ जन संघर्ष मोर्चा से प्रसाद राव चोवा साहू नगरीय निकाय जनवादी सफाई कामगार यूनियन से पुष्पा बारले लो ई मू यूनियन से सुरेंद्र मोहंती सामिल थे,जनक लाल ठाकुर ने कहा कि चंदूलाल चंद्राकर मेमोरियल मेडिकल कालेज अस्पताल जे पी सीमेंट के कर्मचारियों को पुन: काम पर वापस ले नगरीय निकाय के कर्मचारियों को नियमित करण और समय पर वेतन दिलाए वरना आने वाले दिनों में जनता जवाब देगी
व्ही सुदेश टेकाम ने कहा कि मजदूरी का मांग जायज है सरकार का अड़ियल रवैया ठीक परंपरा नहीं है बस्तर के आदिवासियों के साथ आए दिन दमन हो रहा है चाहे वह धर्म के नाम पर क्यो ना हो छत्तीसग सरकार को समस्त आदिवासी इलाकों के जल जंगल जमीन और जान मॉल की सुरक्षा की जिम्मेदारी लेनी चाहिए आज यात्रा को खुर्सीपार थाने के पास रोक दिया गया जहा मुख्य मंत्री और राज्यपाल के नाम से ज्ञापन दीया गया। कार्यक्रम में मुख्य रूप से सुमित, धनुष साहू, देवराज साहू, सिवेंद्र बंधन सहित सैकड़ों साथी सामिल थे कलादास ने सभा का संचालन किया ।

Most Popular

- Advertisment -spot_img