Sunday, February 5, 2023
Homeछत्तीसगढ़छत्तीसगढ़ में इंडियन ऑयल की आपूर्ति सफलतापूर्वक जारी है-दीपक कुमार बसु

छत्तीसगढ़ में इंडियन ऑयल की आपूर्ति सफलतापूर्वक जारी है-दीपक कुमार बसु

रायपुर। श्री दीपक कुमार बसु, कार्यकारी निदेशक एवं राज्य प्रमुख, मध्य प्रदेश एवं छत्तीसगढ़ ने पत्रकारों एवं मीडिया को संबोधित किया |
कंपनी के छत्तीसगढ़ में कार्यों का ब्यौरा देते हुए श्री बसु ने बताया कि इंडियनऑयल के छत्तीसगढ़ में 02 टर्मिनल हैं और एलपीजी की आवश्यकता रायपुर एवं कोरबा में स्थित 02 बॉटलिंग प्लांटों के माध्यम से पूरी की जाती है। हमारे पास रायपुर , बिलासपुर एवं जगदलपुर में विमानों के लिए 03 विमानन ईंधन स्टेशन हैं।

उन्होंने बताया कि मध्य प्रदेश व छत्तीसगढ़ में इंडियनऑयल की वर्ष 2021-22 में पेट्रोलियम, आयल व लुब्रिकेंट्स की खुदरा बिक्री 2338.539 हजार मीट्रिक टन थी तथा बाजार हिस्सेदारी 36.11 प्रतिशत है।

उन्होंने आगे बताया कि पिछले वित्तीय वर्ष (2021-22) के दौरान इन दोनों राज्यों ने रु. 7716.16 करोड़ का योगदान वैट व जीएसटी रूप में सरकार को दिया। इसमें मध्यप्रदेश का योगदान रु. 5310.09 करोड़ और छत्तीसगढ़ का रु 2406.07 करोड रहा़। कंपनी का मध्यप्रदेश में रूपये 3909.87 करोड़ और छत्तीसगढ़ में 1494.67 करोड़ का निवेश है। इंडियनऑयल को मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ दोनों में उच्चतम करदाता के रूप में राज्य सरकार से पुरस्कार मिला है।

छत्तीसगढ़ में ऑयल इंडस्ट्री पर नजर डालें तो स्थिति कुछ इस प्रकार है:-

 छत्तीसगढ़ में इंडियन ऑयल कार्पोरेशन के 02 टर्मिनल हैं कोरबा एवं लाखोली – 241 टीकेएल
 02 बॉटलिंग प्लांट हैं , रायपुर एवं कोरबा – 120 TMTPA
 264एलपीजीवितरक( गैसऐजेंसी) हैं।
 कुल 790 रीटेल आउटलेट्स ( पेट्रोल पंप) हैं।
 केरोसिन के कुल 50 डीलर हैं।
 03 विमानन ईंधन स्टेशन हैं – 140 KL
 05 पेट्रोल पंपों पर ऑटो एलपीजी की सुविधा

छत्तीसगढ़के, कोरबा और लाखोली में सभी प्रकार के प्रोडक्टस के स्टोरेज के लिए पर्याप्त टैंकएज की सुविधा उपलब्ध है।
विगत 5 वर्षों मे कार्पोरेशन द्वारा कई परियोजनाओं मे निवेश किया है जिनमे पारादीप-रांची-रायपुर पाइप लाइन, कोरबा में टर्मिनल तथा बॉटलिंग प्लांटतथा बिलासपुर एवं जगदलपुर में दो विमानन ईंधन स्टेशन प्रमुख हैं

लाखोली में प्रोडक्टस पारादीप-रांची-रायपुर पाइप लाइन से प्राप्त होता है जिसके द्वारा कोरबा टर्मिनल में प्रोडक्टस प्राप्त होता है। कोरबा से छत्तीसगढ़ के 10 जिलों को एवं लाखोली से अन्य जिलों को आपूर्ति की जाती है।

छतीसगढ़ में 02 बॉटलिंग प्लांट हैं। रायपुर के सिलतारा में स्थित बॉटलिंग प्लांट की उत्पाद क्षमता 120 TMTPA है। कोरबा बोटलिंग प्लांट, जिसका उदघाटन 28 जून, 2022 को किया गया , की क्षमता 60 TMTPA है।वर्तमान स्थिति में छत्तीसगढ़ में एलपीजी का फैलाव प्रतिशत 90.44% है।

पूरे छत्तीसगढ़ में एलपीजी के 58.24 लाख उपभोक्ता हैं जिसमें से 29.46 लाख इंडियन ऑयल के उपभोक्ता हैं।
यहाँ कुल 534 एलपीजी वितरक संख्या में से 264इंडियन ऑयल वितरक हैं।
इसी तरह कुल 2049 रीटेल आउटलेट्स में से 790 इंडियन ऑयल के हैं।

सामाजिक दायित्व निर्वहन (CSR)गतिविधियां:-
इंडियन ऑयल द्वारा सामाजिक दायित्व निर्वहन (CSR)के अधीन छत्तीसगढ़ में विविध कार्य किए गए हैं। वर्तमान स्थिति तक आईओसी द्वारा कुल 541.91 (in lacs) की राशि सीएसआर में खर्च की गई है। कुछ विविध गतिविधियों इस प्रकार हैं:

• Provision of 4-Solar Street Lights ( All in One) at Village Akoli near Raipur BP inChattisgarh
• Construction of Toilets under SAV (FY 2015-16), Korba District (C.G.)
• Provision of 4 toilet blocks (2 nos boys & 2 nos girls) in govt. schools near RoW(PRRPL)
• Provision of Assistive devices to the PWD persons thru’ Alimco in Raipur Dist.
• Providing Aids & Assistive Devices to 436-Devyangjans (PwDs) inRaipur district of CG through ALIMCO, Jabalpur
• Establishing 5-Van Dhan Vikas Kendras for improvement of livelihood of Tribal Communities in Rajnandgaon district of Chhattisgarh through TRIFED (under Ministry of Tribal Affairs) atan estimated cost of Rs.1.85 crore under CSR
• Provision of Aids and Equipments to PWDs in Korba District.
• Provision of educational scholarship for Class X 82girls toppersfrom Chattisgarh State Board
• Provision of 2 nos. Scorpio Vehicles for medical purpose to AkhilBhartiyaVanvasiKalyan Ashram, Jashpur, Chattisgarh
• Provision of Sport facilities at School at Narayanpur run by Ramkrishna Mission
• On the occasion of AzadiKaAmritMahotsav, certificate and recognition were given to students on various events.
• LPG Panchayat and LPG safety cli9inics at around 856b numbers were conducted for safety and conservation of LPG usage.

एलपीजी ग्राहकों की सुविधा के लिए सरल बूकिंग पद्धतियाँ अपनाई गई हैं जैसे – मिस कॉल द्वारा (8454955555), व्हाट्सऐप द्वारा (7588888824), एसएमएस आईवीआरएस द्वारा (7718955555) इसके अलावा वैबसाइट के द्वारा बूकिंग की जा सकती है।
इंडियन ऑयल कॉर्पाेरेशन लिमिटेड के बारे में

इंडियन ऑयल तेल, गैस, पेट्रो केमिकल्स और वैकल्पिक ऊर्जा स्रोतों की लगभग सभी धाराओं में उपस्थिति के साथ एक विविध, एकीकृत ऊर्जा प्रमुख है। वित्तवर्ष 2021-22 के लिए 24,184 करोड़ रुपये के शुद्ध लाभ के साथ इंडियन ऑयल देश का सबसे बड़ा और सबसे भरोसेमंद कॉरपोरेट है, जो एक अरब से अधिक भारतीयों के जीवन को छू रहा है। 33,500 से अधिक कार्यबल, व्यापक रिफाइनिंग, वितरण और विपणन बुनियादी ढांचे, और उन्नत आरएंडडी सुविधाओं के साथ, इंडियन ऑयल ने 50,000 ग्राहक टच प्वाइंट के अपने निरंतर बढ़ते नेटवर्क के माध्यम से देशभर में लाखों लोगों को ऊर्जा पहुंच प्रदान की है।

Most Popular

- Advertisment -spot_img