Saturday, February 4, 2023
Homeछत्तीसगढ़जान है तो जहान है

जान है तो जहान है

ध्यान व योग से शरीर को स्वस्थ रख सकते है। आपके हाथ में शक्ती है आप अपने हाथों से स्वयं को स्वस्थ कर सकते है। कैसे यह आप योग प्राण विद्या (YPV) से सीख सकते है दवाई बीमारी को भगाती है पर YPV आपको बीमारी से दूर रखती है ypv के संस्थापक श्री एन जे रेड्डी है जो रिटायर विंग कमांडर है, उनका उद्देश्य पृथ्वी पर स्वर्ग लाना है, सभी लोग स्वस्थ खुश व शांतिपूर्वक रहे प्रत्येक परिवार में 1 हीलर हो। YPV में 2 भाग है (1) जीवात्मा का आत्मा से जोडना, आत्मा का परमात्मा से जुड़ना योगा है। (2) योगा माने आसन है, शरीरिक व्यायाम, प्राणायाम क्षमाप्रार्थना, प्रत्याहारा-यम-नियम, ध्यान-धारणा, मेडीटेशन ये अष्टांग योगा है। इससे हमारे विचार स्पष्ट होते है, भावनाएं संतुलन में रहती है और उर्जा शरीर कोमल बनता है उर्जा शरीर भौतिक शरीर के अंदर व बाहर होता है जब बीमार पड़ते है तो उर्जा शरीर प्रभावित होता है। उसे संतुलित कर भौतिक शरीर को ठीक कर सकते हैं यह “No touch no drug zero side effect therapy” है यह 2 सिद्धांत पर काम करती है।

(1) शरीर स्वंय को हील कर सकता है।

(2) उर्जा विचारो का अनुसरण करती है। यह उपचार मरीज से दूर रह कर सकते है हमारे शरीर के ऊर्जा चको की ऊर्जा बढ़ाकर संतुलित कर जल्दी ठीक हो सकते है। 95 प्रतिशत बीमारी साइको सोमेटिक होती है। हीलिंग के द्वारा भावना व विचारो को बदल कर ठीक करते है। इसमे हीलर से रोगी तक ऊर्जा का संचार होता है वह ठीक होता है। प्राणायाम, क्षमा प्रार्थना, व्यायाम, ध्यान का अभ्यास कराया जाता है। इसमें डर लत डिप्रेशन का भी उपचार होता है YPV में अध्यात्मिक स्थिति के साथ शारीरिक, इमोशनल स्थिती में भी इम्प्रुमेंट होता है इसे 16 साल के बच्चे से लेकर कोई भी सीख सकता है 3 दिन में इससे आप अपने व्यवहार व मूड व भावना में बहुत परिवर्तन देखेंगे। आप अच्छा करने की सोचेंगे ही नही अच्छा कर दिखाएंगे। स्वयं से प्यार करे अपने लिये समय निकाले आप YPV साधना एप डाऊनलोड कर सकते है उसमे सभी प्रेक्टीस है, इससे आपका इम्युनिटी पॉवर भी बढ़ेगा। रेड्डी सर के live फेसबुक में प्रतिदिन 3 session 7.30am, 1.15pm, 6.30pm होते है join करे be positive & be healthy अधिक जानकारी के लिए 7974864740 भारती राठौड़ से संपर्क कर सकते है।

Most Popular

- Advertisment -spot_img