Saturday, November 26, 2022
Homeछत्तीसगढ़छत्तीसगढ़ ओलंपिक का विरोध भाजपा का छत्तीसगढ़िया विरोधी चरित्र-सुरेंद्र वर्मा

छत्तीसगढ़ ओलंपिक का विरोध भाजपा का छत्तीसगढ़िया विरोधी चरित्र-सुरेंद्र वर्मा

प्रथा-परंपरा, रीति-रिवाजों, खान-पान और तीज त्यौहार के बाद अब छत्तीसगढ़िया खेलकूद का भी विरोध करने लगे हैं भाजपाई

रायपुर/21 अक्टूबर 2022। छत्तीसगढ़ ओलंपिक को लेकर भारतीय जनता पार्टी के बयान को लेकर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता सुरेंद्र वर्मा ने कहा है कि दरअसल भाजपा का राजनीतिक चरित्र ही छत्तीसगढ़िया विरोधी है। 15 साल सरकार में रहने के दौरान शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार सहित युवाओं के अधिकारों को बेचने का काम करने वाले भाजपाई अब छत्तीसगढ़ ओलंपिक को लेकर भ्रम फैला रहे। 15 साल सरकार में रहे छत्तीसगढ़ के भाजपाइयों को यह तक नहीं पता कि सहमति पत्र सामान्य प्रक्रिया है, भूपेश बघेल सरकार अपनी जिम्मेदारियों से कभी पीछे नहीं हटी हैं और ना हटेगी। विगत पौने चार साल के भूपेश बघेल सरकार में स्वास्थ्य सुविधाएं आम जनता के चौखट तक पहुंची है। प्रदेश में हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर 240 परसेंट बढा है। सभी जिला अस्पतालों को मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल बनाया गया है। ब्लॉक के अस्पतालों में भी भर्ती की सुविधा चालू की गई है। हमर अस्पताल योजना के तहत दवाएं भी निः शुल्क दी जा रही है। हाट बाजार क्लिनिक और मोहल्ला क्लीनिक भी संचालित है।
प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता सुरेंद्र वर्मा ने कहा है कि छत्तीसगढ़ ओलंपिक भूपेश बघेल सरकार की छत्तीसगढ़िया आत्मसम्मान और स्वाभिमान का प्रतीक है, जिसके तहत पारंपरिक खेलों का आयोजन किया गया है। पहली बार पूरे प्रदेश में बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक सभी आयु वर्ग के लोग उत्साह से अपनी भागीदारी निभा रहे हैं, लेकिन भारतीय जनता पार्टी के नेता सक्रिय विपक्ष की भूमिका निभाते हुए प्रोत्साहित करने के बजाय विरोध कर रहे हैं। छत्तीसगढ ओलंपिक को लेकर भाजपा नेताओं का तथ्यहीन बयान निंदनीय है।

- Advertisment -spot_img
spot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img
spot_img
spot_img