Thursday, December 8, 2022
Homeछत्तीसगढ़RAMKRISHNA CARE HOSPITAL में हर्निया के प्रति जागरूकता हेतु 60 दिवसीय अभियान

RAMKRISHNA CARE HOSPITAL में हर्निया के प्रति जागरूकता हेतु 60 दिवसीय अभियान

रायपुर। रामकृष्ण केयर हॉस्पिटल के मैनेजिंग एवं मेडिकल डायरेक्टर डॉ. संदीप दवे ने प्रेसवार्ता में बताया कि एक सामान्य जीवन जीने के लिए एक प्रयास हर्निया के प्रति जागरूकता का जानिए हर्निया के बारे में और अपना जीवन सामान्य करे।
हमारे इस 60 दिन के अभियान में हमने 1,00,000 लोगो को हर्निया के प्रति जागरूक करने का निर्णय लिया है. जिससे आम नागरिक हर्निया बीमारी होने के कारण और उससे होने वाली परेशानियों के बारे में जान सकें और इस अभियान के जरिये अपने स्वस्थ्य कि उचित जाँच करा सकें. हर्निया फ्री समाज अभियान के तहत विभिन्न जागरूकता कार्यक्रम में रामकृष्ण केयर होस्पिटल के जनरल सर्जरी विभाग के एक्सपर्ट डॉक्टर्स कि टीम रहेगी जो अपने अनुभवों को साझा कर बीमारी से सम्बंधित जानकारी देगी.
हर्निया सामान्य दिनचर्या में असुविधा या दर्द उत्पन्न कर सकता है। वजन उठाने या भारी काम करने में भी तकलीफ होती है। यहां तक कि नार्मल रूटीन लाइफ पर भी असर पड़ता है। यहां यह ध्यान रखना जरूरी है कि समय के साथ हर्निया में ना तो सुधार होता है और ना ही जाता है, जैसा कि कई बीमारियों में होता है। बल्कि समय के साथ यह बढ़ता ही जाता है और गंभीर रूप धारण कर सकता है। हर्निया में आंतों के फंसने या अटकने की स्थिति में जान का खतरा उत्पन्न हो सकता है। इसलिए इसका उपचार तुरंत करवाना चाहिए।

Target 1,00,000 people
●A- 3 mega camps with experts
●B- 8 workshops with 50k hernia operations
●C-10 awareness seminars
●D- Communicating 25 lakh people with digital Readership
●E- 10 youtube videos

●F – Online and offline problem solving consultation
●G-15 corporate tieups for awareness campaign..

मांसपेशियां कमजोर होने के कारण मनुष्य को कई तरह की बीमारियां और परेशानियां होती हैं, हर्निया भी उन्हीं में से एक है। जब एक मांसपेशी या उत्तक में छेद होकर उसके अंदर का अंग/हिस्सा बाहर आने लगता है तो उसे मेडिकल की भाषा में हर्निया रोग (Hernia in Hindi) कहते हैं।
ज्यादातर मामलों में यह पेट में देखने को मिलता है, लेकिन यह जांघ के ऊपरी हिस्से, नाभि और कमर के आसपास भी हो सकता है। अधिकतर मामलों में हर्निया घातक नहीं होते हैं, लेकिन उन्हें इलाज की आवश्यकता होती है। हर्निया का एकमात्र इलाज सर्जरी है।

हर्निया रोग के कारण:

हर्निया के कई कारण हो सकते हैं। मुख्य रूप से मांसपेशियां कमजोर होने के कारण हर्निया होता है।
मांसपेशियों के कमजोर होने के मुख्य कारणों में निम्न शामिल हो सकते हैं जो आगे जाकर हर्निया का कारण बन सकते हैं:-
●उम्र बढ़ना

●चोट लगना
●गर्भवती होना
●मोटापा होना
●धूम्रपान करना
●वजन अधिक होना
●पुरानी खांसी होना
●पीसीओडी होना
●आनुवंशिक कारण
●पुरानी कब्ज होना
●हैवी व्यायाम करना
●भारी वजन उठाना
●मल्टीपल गर्भधारण होना
●सिस्टिक फाइब्रॉइड्स होना
●जन्म के दौरान शिशु का वजन कम होना

● पेट में तरल पदार्थ जमा होना
● सर्जरी के दौरान कोई जटिलता होना

हर्निया रोग के लक्षण (Symptoms of Hernia) :

दूसरी समस्याओं की तरह हर्निया के भी कुछ मुख्य लक्षण होते हैं जो उनकी मौजूदगी की ओर इशारा करते हैं। हर्निया के लक्षण में निम्न शामिल हो सकते हैं:-
●प्रभावित हिस्सा उभरा हुआ दिखाई पड़ना
● प्रभावित हिस्से को छूने पर हल्का दर्द होना
● शरीर में भारीपन महसूस होना
●देर तक खड़े रहने में परेशानी होना
●मल-मूत्र त्याग करते समय कठिनाई होना
●त्वचा के अंदर कुछ फुला-फुला महसूस करना
●शरीर के किसी हिस्से से चर्बी का बाहर निकलना

इन सबके अलावा, उठते, बैठते या दैनिक जीवन के कामों को करते समय प्रभावित हिस्से में दर्द महसूस करना भी हर्निया के मुख्य लक्षणों में से एक है।

हर्निया रोग से नुकसान :

हर्निया के अनेक नुकसान हैं। जब आंत या वसायुक्त चर्बी का टुकड़ा हर्निया की थैली में फंस जाता है तो पैदा होती है और उत्तक में खून की आपूर्ति बंद हो जाती है। खून की आपूर्ति नहीं होने के कारण उत्तक मरने लगते हैं जिसे स्ट्रैंगुलेटेड हर्निया कहते हैं।
स्ट्रैंगुलेटेड हर्निया के कारण मरीज की मृत्यु भी हो सकती है। यही कारण है कि इसे आपात मेडिकल देखभाल की आवश्यकता होती है। साथ ही, हर्निया का आकार बड़ा होने पर पेट और खाने की नाली विस्थापित हो सकती है।

हर्निया रोग का परीक्षण (Diagnosis of Hernia):

हर्निया का परीक्षण करने के लिए डॉक्टर कुछ टेस्ट करते हैं जिनमें निम्न शामिल हो सकते हैं:-

●अल्ट्रासाउंड
●सिटी स्कैन
●एमआरआई
●एंडोस्कोपी
● गैस्ट्रोग्राफिन या बेरियम एक्स-रे

हर्निया की जांच करके डॉक्टर हर्निया के प्रकार और उसकी गंभीरता की पुष्टि करते हैं। उसके बाद, इलाज की प्रक्रिया शुरू करते हैं।

हर्निया रोग का इलाज:

सर्जरी ही हर्निया का एकमात्र इलाज है। जीवनशैली में बदलाव या दवाओं की मदद से हर्निया के लक्षणों को बस कम किया जा सकता है। सर्जरी के दौरान डॉक्टर हर्निया को बाहर निकाल देते हैं। हर्निया की सर्जरी को दो तरह से किया जाता है जिसमें ओपन सर्जरी और लेप्रोस्कोपिक सर्जरी शामिल हैं।

- Advertisment -spot_img
spot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img
spot_img
spot_img