Thursday, December 8, 2022
Homeछत्तीसगढ़अनुकम्पा नियुक्ति शिक्षाकर्मी कल्याण संघ अनुकम्पा नियुक्ति न देने पर फिर से...

अनुकम्पा नियुक्ति शिक्षाकर्मी कल्याण संघ अनुकम्पा नियुक्ति न देने पर फिर से आंदोलन की तैयारी में

दीपावली में दिवंगत पंचायत शिक्षाकर्मी की विधवाएं ( परिजन) करेगी 5 दिवसीय आंदोलन।

रायपुर। सत्ता में आने से पहले हमसे किया था वादा अब भूपेश सरकार वादा खिलाफी कर रही है। विधवाओं की स्थिति दयनीय घर चलाने में हो रही तकलीफ मुखिया के जाने के बाद उधारी लेकर चला रही है घर अब अपनी स्थिति को लेकर फिर से सड़क पर आने की तैयारी में है
10,15 सालो से अनुकम्पा पेंडिंग सरकार वंचित कर रही है अनुकम्पा वालो को अनुकंपा नियुक्ति से कमेटी बने एक साल से ज्यादा हो चुका है अनुकम्पा संघ बार बार जा जा कर मंत्रालय वरिष्ठ अधिकारियों से मुलाकात किए और प्रकरण कहा तक पहुंचा पता किए।
एक साल के बाद अनुकम्पा का प्रकरण वित्त विभाग में गया वह भी 100, की संख्या बताई जा रही है। अनुकम्पा संघ की सख्या 1269 बताई जाती हैं और वित्त विभाग में 100,, लोगो की संख्या जाती हैं।
ये कैसा न्याय है मुख्यमंत्री जी और वरिष्ठ अधिकारियों का
जो अनुकम्पा संघ के साथ छल किया जा रहा है।
जब अनुकम्पा संघ की प्रांता अध्यक्ष माधुरी मृगे और पदाधिकारी 1 अगस्त को खेरागढ़ की विधायिका यशोदा वर्मा जी की अगुवाई में मुख्यमंत्री जी से मुलाकात किए थे तो लेटर पैड में सीएस को निर्देशित किया गया और 3 अगस्त को डीपी आई ने शिक्षा विभाग से अनुकंपा के रिक्त पदों की जानकारी मांगी।
अब देरी किस बात की हो रही है की आदेश जारी नही हो पा रहा है
मुख्यमंत्री जी ने कोरोना काल में भी नियमो को शिथिल करते हुए योग्यता अनुसार अनुकंपा नियुक्ति दी गई वह भी वह लोग है जो पंचायत शिक्षाकर्मी थे उनका संविलियन सरकार ने 2018 मे शिक्षा विभाग में किया।
यही सरकार नियम को बनाती है और आज भूपेश सरकार हम विधवाओं को नियम का हवाला देती है। हमारे साथ सरकार अन्याय कर रही है।
टीईटी को शिथिल करने की मांग कर रहे है सरकार नया नियम बनाए और अनुकम्पा नियुक्ति का आदेश जारी करे।
संवेदन शील मुख्यमंत्री कहते है तो संवेदनशील अनुकम्पा नियुक्ति मामले पर तत्काल निराकरण कर नियम शिथिल करने का अधिकार मुख्यमंत्री जी के पास होता हे फिर कैसी देरी पेंशन के लिए नया नियम बन सकता है तो अनुकम्पा के लिए क्यों नही बच्चो के भविष्य की चिंता को लेकर विधवाएं मानसिक प्रताड़ना से झुलस रही है।
इसलिए मुख्यमंत्री जी आग्रह और निवेदन है की तत्काल अनुकम्पा नियुक्ति का आदेश 17 तारीख की कैबिनेट में किया जाए नही तो अनुकम्पा संघ 20 अक्टूबर से रायपुर बूढ़ा तालाब में आंदोलन करने के लिए बाध्य होंगे

- Advertisment -spot_img
spot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img
spot_img
spot_img