Thursday, December 8, 2022
Homeछत्तीसगढ़पार्षद और पार्षद पति के द्वारा सोशल साइट में झूठी व अपमानजनक...

पार्षद और पार्षद पति के द्वारा सोशल साइट में झूठी व अपमानजनक लेख प्रकाशित करने पर प्रताड़ित ने थाने में दिया कार्यवाही हेतु आवेदन


रायगढ़। शैलेंद्र साहू आ- स्व. श्री कार्तिक राम साहू, उम्र 33 वर्ष निवासी वार्ड क्रमांक 34 नवापारा चौकी जूटमिल रायगढ़ तह. व जिला रायगढ़ ने बताया कि अपने वार्ड एवं रायगढ़ शहर के विभिन्न सामाजिक कार्यों में निस्वार्थ भाव से योगदान देता रहता हूं, मेरा द्वारा उक्त सामाजिक दायित्वों के निर्वहन निस्वार्थ भाव से करने के कारण से ही प्रदेश स्तरीय साहू समाज (छत्तीसगढ़ नवयुवक साहू संघ) के द्वारा मुझे प्रदेश कार्यकारिणी अध्यक्ष के रूप में पदभिहित किया गया है तथा मेरी प्रादेशिक स्तर पर पर्याप्त प्रतिष्ठा है!

मेरे निवास स्थान वार्ड क्रमांक 34 रायगढ़ तहसील जिला रायगढ़ के वार्ड पार्षद श्रीमती पुष्पा साहू एवं उसका पति निरंजन साहू जी साहू समाज के हैं तथा एक ही मोहल्ले के निवासी होने तथा पुष्पा साहू की पार्षद पद पर रहने के बाद भी दोनों पति-पत्नी की साहू समाज में कोई प्रतिष्ठा नहीं है, जिस कारण से वे मेरी प्रतिष्ठा से जलन की भावना रखते हैं तथा येन केन प्रकारेण मेरी या मेरे परिवार की प्रतिष्ठा समाज में धूमिल करने के उद्देश्य से षड्यंत्र करते रहते हैं, इसी तरह में दिनांक 21-09- 2022 निरंजन साहू के द्वारा अपने व्हाट्सएप स्टेटस के रूप में एक लेख प्रकाशित कर मेरा नाम उल्लेखित करते हुए मुझे नामर्द है लिखा, क्योंकि निरंजन साहू भी कई व्हाट्सएप ग्रुप का सदस्य था इस कारण से उक्त व्हाट्सएप स्टेटस को देख कर मुझे कई परिचित व्यक्तियों के द्वारा दूरभाष से उक्त लेख की सूचना दी गई जिसे मेरे द्वारा जांच करने तथा पड़ने पर इसकी जानकारी हुई. उक्त लेख के कारण से मेरी सामाजिक प्रतिष्ठा पूर्णता धूमिल हो गई मेरी सामाजिक प्रतिष्ठा धूमिल करने के उद्देश्य से श्रीमती पुष्पा साहू एवं उसके पति निरंजन साहू द्वारा अपने-अपने फेसबुक अन्य व्यक्तियों को टैग करते हुए अपमानजनक लेख प्रकाशित किया गया, सोशल साइट पर इस तरह से मेरी छवि को पूर्णता धूमिल कर दिया है जिस कारण से मैं मानसिक रूप से परेशान हूं, मेरी मानसिक सामाजिक प्रतिष्ठा पूर्ण रूप से धूमिल हो गई है. निरंजन साहू के उक्त कृत्य के कारण से व्हाट्सएप ग्रुप (छत्तीसगढ़ नवयुवक संघ) प्रदेश अध्यक्ष के द्वारा निरंजन साहू को व्हाट्सएप ग्रुप से निकाल दिया गया है तथा मेरी छवि पुनः निर्मित करने का प्रयास किया किंतु मैं जहां भी जिस कार्यक्रम में जा रहा हूं मुझे देखते ही उपस्थित सभी व्यक्ति मुझे नजरअंदाज कर मेरा तिरस्कार कर रहे हैं, जिसे मुझे गहरा आघात हो रहा है मेरा अपने व्यवसाय में भी मन नहीं लग रहा है!

इस बावत शैलेंद्र साहू ने श्रीमती पुष्पा साहू एवं निरंजन साहू के विरुद्ध मे मेरी छवि धूमिल करने मुझे गान मानसिक वेदना एवं प्रताड़ना देकर क्षति पहुंचाने के संबंध में जुटमिल चौकी रायगढ़ में जाँचकर उचित कार्यवाही हेतु आवेदन दिया है

- Advertisment -spot_img
spot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img
spot_img
spot_img