Wednesday, November 30, 2022
Homeछत्तीसगढ़मीना बाजार में अव्यवस्थाओं का अंबार, जिला प्रशासन और जनप्रतिनिधियों की उदासीनता...

मीना बाजार में अव्यवस्थाओं का अंबार, जिला प्रशासन और जनप्रतिनिधियों की उदासीनता से अवैध उगाही करने वालों के हौसले बुलंद

कैलाश आचार्य/रायगढ़:- जिले के ऐतिहासिक जन्माष्टमी उत्सव छत्तीसगढ़ प्रदेश ही नहीं बल्कि पूरे देश में मशहूर है. गौरी शंकर मंदिर, श्याम मंदिर मे प्रत्येक वर्ष मन मोह लेने वाली झांकियां सभी को आकर्षित करती हैं जिले के प्रख्यात जन्माष्टमी पूर्व में महीनों मेला लगता है. मेले में मीना बाजार भी आकर्षक का प्रमुख केंद्र होता है, छत्तीसगढ़, उड़ीसा राज्य सहित कई शहर, गांव और कस्बों से प्रतिदिन हजारों लोग मेला घूमने आते हैं! इस बार दो-दो मीना बाजार रायगढ़ में आए हैं, जिनमें बहुत सारी त्रुटियां और खामियां होने के बावजूद संचालित हो रही है!

माल धक्का रोड पर यातायात का दबाव
मेले में प्रतिदिन हजारों की संख्या में शहर पहुंचने की वजह से मीना बाजार लगने वाले माल धक्का रोड पर यातायात का दबाव बहुत अधिक होता है, सड़क किनारे अवैध रूप से पार्किंग खोलकर वाहन मालिकों से अवैध उगाही की जा रही है, वहीं सड़क दोनों ओर अनेक दुकानों की गुमटियां संचालित होने से सड़क की चौड़ाई और कम हो गई है! कुछ लोग अवैध रूप से मोटी रकम वसूल कर इन दुकानदारों को दुकान संचालित करने के लिए जगह मुहैया कराने की जानकारी सामने आ रही है!

मीना बाजार के झूलों की गुणवत्ता
मीना बाजार के झूलों की गुणवत्ता, ऑपरेटरों का कार्य कौशल, मेले में आने वाले लोगों के लिए पीने की पानी, सुलभ-शौचालय, मौत के कुआं मे दौड़ते वाहनों का फिटनेस, वाहन चालकों के लाइसेंस, सुरक्षा की दृष्टि से सीसीटीवी कैमरे, उत्पादकों के मूल्य, तथा आय -व्यय लेखा-जोखा और मीना बाजार संचालक द्वारा शासन को मिलने वाले राजस्व की समीक्षा करने पर अनेकों सवाल खड़े हो रहे हैं??…

जनप्रतिनिधि और प्रशासनिक उदासीनता समझ से परे?…
मीना बाजार मेले मे उपकरणों की गुणवत्ता, उपकरण संचालक के कार्य कौशल, आम सुविधाओं का अव्यवस्था,यातायात का दबाव,सड़क किनारे अवैध पार्किंग मे लूट-खसोट पर जिला प्रशासन और जनप्रतिनिधियों की भूमिका बहुत ही संदिग्ध नजर आ रही है. राजनीतिक रसूख रखने वाले मेला संचालक एवं उनका सहयोग कर रहे जनप्रतिनिधि सहित जिला प्रशासन को अवैध उगाही जानकारी ना हो ऐसा कैसे हो सकता है? आखिर किन लोगो के संरक्षण में इन वसूली गैंग के हौसले बुलंद हैं? सड़क किनारे अवैध पार्किंग बनाकर उगाही क तथा सड़क के दोनों ओर रुपए लेकर दुकानों के संचालन और दुकानों में लगी भीड़ की वजह से यातायात का दबाव और भी बढ़ जाता है! मीना बाजार के गेट एंट्री टिकट, विभिन्न झूले सहित सभी दुकानों पर कच्ची रसीद दी जा रही है जिसमें आयोजक को प्राप्त होने वाली राशि का कोई पुख्ता लेखा-जोखा उपलब्ध नहीं है, जिसे शासन को राजस्व की हानि भी हो रही है! मीना बाजार में पुलिस की 24 घंटा ड्यूटी लगी हुई है जिला प्रशासन के उच्च अधिकारियों का भी आना जाना लगा रहता है मगर मीना बाजार मेले मे अव्यवस्था और सड़क दोनों ओर अवैध पार्किंग और दुकानदारों से की जा रही अवैध उगाही से अनजान कैसे हैं?

क्या कहते हैं डिज्नीलैंड मीना बाजार आयोजक…
झूले के फिटनेस की बात करे तो कई झूले नये हैं और जो पुराने है उन्हें लगाने से पहले दुरुस्थ किया जाता है, हवाई झूला तो रायगढ़ में ही ओपनिंग किया गया है उसके 4 मिस्त्री बाई प्लेन आये है सुरक्षा की दृष्टि से 52 स्थानों में सी सी टी वी कैमरे लगाए गए है 2 स्थानों से ऑपरेट किया जा रहा है कर्मचारियों को वाकी टाकी दिया गया है, पुलिस प्रशासन की निगरानी है। सीनियर सिटीजन के लिये जगह जगह कुर्सी लगाए गए है ताकि उन्हें आराम के लिये बैठाया जा सके, निःशुल्क पानी के लिये मिनरल वाटर तक कि सुविधा दी जा रही है, सुलभ शौचालय महिला पुरुष के लिये अलग-अलग बनाया गया है।निशक्त जनों को फ्री एंट्री देकर पूरी सुविधा दी जा रही है, कुल मिलाकर हमने नागरिको को हर संभव सुविधा देने का पूरा प्रयास किया है।
आयोजक- मोहम्मद कलाम आलम खान

- Advertisment -spot_img
spot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img
spot_img
spot_img