Saturday, December 10, 2022
Homeछत्तीसगढ़जामवाल के आने से भूपेश बघेल की बुद्धि जाम हो गई है

जामवाल के आने से भूपेश बघेल की बुद्धि जाम हो गई है


रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के पूर्व जिला कार्यकारिणी सदस्य अजय साहू, भाजपा नेता पंडित लोकेश कृष्ण दुबे,देवेंद्र निर्मलकर, सोमनाथ यादव, संजु लहरें, ईला प्रशाद राव,परमानंद धुरंधर, नरेंद्र यादव ने प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के द्वारा भाजपा नेताओं के ऊपर तंज कसे जाने की आलोचना करते हुए कहा कि हंटरवाली, जाम वाले, मदमस्त करने वाले, ऐसे बोल बोलने वाले व्यक्ति का चाल चरित्र एवं चेहरा का चित्रण उसके शब्द ही कर देते हैं !एक महत्वपूर्ण संवैधानिक पद पर बैठे हुए व्यक्ति से ऐसे ओछे शब्दों की आशा नहीं की जा सकती!ऐसा बोल बोलने वालों की वाणी उनके चरित्र को बयां कर देती है! पार्टी के कार्यकर्ताओं का कहना है कि छत्तीसगढ़ में जबसे जामवाल जी क्षेत्रीय संगठन महामंत्री बन कर आए तब से मुख्यमंत्री श्री बघेल जी के होश उड़े हुए हैं! श्री जामवाल जी जहां पर भी अपने हाथ में कमान लेते हैं वहां भाजपा को विजय अवश्य दिलाते हैं! उनके गुण एवं उनके कार्यों को देखकर कांग्रेस में खलबली मची हुई है!

ऐसा लगता है कि श्री जामवाल के आने से मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल जी की बुद्धि जाम हो गई है! तभी वे ऐसा अनर्गल प्रलाप कर रहे हैं! जब व्यक्ति के मन में अहंकार पैदा होता है तभी उसके पतन के रास्ते प्रारंभ हो जाते हैं! धीर,वीर एवं टिकाऊ व्यक्ति इस तरह अभिमान युक्त बातें नहीं करता! आज छत्तीसगढ़ के पांच लाख कर्मचारियों के प्रति मुख्यमंत्री का अभिमान स्पष्ट देखा जा सकता है! बढ़-चढ़कर वादे करने वाले मुख्यमंत्री अपने कर्मचारियों को देय तिथि से कौन कहे वर्तमान तिथि से भी महंगाई भत्ते का भुगतान नहीं कर पा रहे हैं! नियमानुसार देय तिथि से अगर कर्मचारियों को महंगाई भत्ते भुगतान कर ही नहीं सकते! वहीं छत्तीसगढ़ के वर्तमान भाजपा अध्यक्ष श्री अरुण साव एवं पूर्व मुख्यमंत्री श्री रमन सिंह ने छत्तीसगढ़ के कर्मचारियों को देय तिथि से महंगाई भत्ता एवं गृह भत्ता देने की घोषणा कर कांग्रेस पर जबर्दस्त प्रहार किया है! पूरी कांग्रेसी इस घोषणा से चरमरा गई है! आज की तिथि में वर्तमान सरकार की नरवा,गरवा,घुरवा,बाड़ी की योजना पूरी तरह फ्लॉप एवं कागजी रह गई है! कांग्रेस के शासन से किसान, मजदूर, कर्मचारी एवं मध्यम वर्ग पूरी तरह नाराज है! वर्तमान में कई टीवी चैनल द्वारा किए जा रहे सर्वेक्षणों में यह स्पष्ट हो चुका है! अपने जिस काम को लेकर माननीय मुख्यमंत्री जी ढिंढोरा पीटते हैं, उसकी कलाई पूरी तरह खुल चुकी है! गौठान की सारी गाये रात भर सड़क पर रहती हैं एवं किसान रात भर चौकीदारी करने के लिए बाध्य है!

- Advertisment -spot_img
spot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img
spot_img
spot_img